स्टॉप लॉस क्या है और कहां लगाना चाहिए? - Stop Loss Meaning in Hindi

Stop Loss Order एक ऐसा आर्डर होता है जो कि एक इन्वेस्टर को स्टॉक को खरीदने या बेचने के लिए दिया जाता है। निवेशक के द्वारा खरीदा गया स्टॉक जब उसको नुकसान देने लगता है तब एक स्टॉप लॉस ऑर्डर निवेशक को सीमित नुकसान के साथ मार्केट से एग्जिट करने की सहूलियत प्रदान करता है।

Stop Loss Meaning in Hindi होता है कि जब भी हम कोई शेयर खरीदते हैं तो उसी समय हम तय कर लेते हैं कि अगर शेयर का मूल इतना प्रतिशत या इतनी दर में गिरा तो हम इस शेयर को बेच देंगे और एक निश्चित नुकसान के साथ मार्केट से एग्जिट कर लेंगे।

स्टॉप लॉस क्या है - Stop Loss Meaning in Hindi

अक्सर मार्केट में यह कहा जाता है कि स्टॉप लॉस ऑर्डर हमारा दोस्त होता है क्योंकि यह हमें असीमित नुकसान से बचाता है।

उदाहरण के लिए जब कोई निवेशक शेयर खरीदता है तो उसको कम कीमत के ऊपर स्टॉप लॉस का ऑर्डर सेट करना पड़ता है। निवेशक अपने अनुसार स्टॉप लॉस सेट कर सकते हैं। निवेशक जिस भी परसेंट के ऊपर स्टॉप लॉस के आर्डर को सेट करेगा निवेशक को उसके द्वारा सेट किए गए स्टॉप लॉस के तहत ही नुकसान होगा।


Stop Loss Meaning in Hindi जैसे मान लीजिए कोई निवेशक रिलायंस कंपनी के शेयर ₹2000 में खरीदता और वह स्टॉप लॉस ₹1900 में सेट कर देता है। अगर शेयर मार्केट में निवेशक द्वारा खरीदे गए शेयरों का मूल्य ₹1900 से नीचे आता है तो निवेशक के शेयर ₹1900 में बेच दिए जाएंगे। जिससे कि उसको प्रति शेयर पर सिर्फ ₹100 का ही नुकसान होगा। फिर चाहे निवेशक शेयरों की घटती कीमतों पर ध्यान दे या ना दे पर उसके शेयर उसके स्टॉपलॉस के तहत सेट किए गए मूल्य पर बेच दिए जाएंगे।

इसी तरह स्टॉप लॉस ऑर्डर नहीं डाला जाता है और शेयर का मूल्य गिरते-गिरते ₹1500 आ जाता है तो इस स्थिति में इन्वेस्टर को प्रति शेयर ₹500 का नुकसान हो जाएगा।

इसीलिए मार्केट में हमेशा एक स्टॉपलॉस के साथ ही काम करना चाहती है जिससे कि आप ज्यादा देर तक मार्केट में बने रह सकते हैं और लंबे समय में मुनाफा कमा सकते हैं।

जो इन्वेस्टर स्टॉप लॉस के साथ काम नहीं करते हैं वह जल्दी ही मार्केट से नुकसान के साथ निकल जाते हैं और फिर कभी भी मार्केट में पैसा लगाने नहीं आते हैं।

स्टॉप लॉस ऑर्डर मुनाफे को लॉक करने का भी एक तरीका है: Lock Profit with Stop Loss Order

निवेशक को ज्यादा कोई नुकसान ना हो तभी निवेशक अपने लिए स्टॉप लॉस ऑर्डर का प्रयोग करता है। पर इसके साथ ही निवेशक को स्टॉप लॉस ऑर्डर का प्रयोग करने से मुनाफा भी होता है। इस मामले में कभी-कभी स्टॉप लॉस ऑर्डर को ट्रेलिंग स्टॉप लॉस भी कहा जाता है।

स्टॉप लॉस आर्डर के लाभ - Advantages of Stop Loss Order

  • निवेशक को स्टॉप लॉस ऑर्डर को लागू करने के लिए कोई भी अतिरिक्त शुल्क नहीं देना पड़ता है।
  • स्टॉप लॉस के मूल्य तक पहुंचने के बाद ब्रोकरेज प्लान के अनुसार ही ब्रोकरेज ली जाती है।
  • स्टॉप लॉस ऑर्डर निवेशक को भावनाओं के प्रभाव से मुक्त कर देता है। स्टॉक मार्केट में भावनाओं पर नियंत्रण करना सबसे महत्वपूर्ण होता है।
  • ज्यादातर स्टॉक इन्वेस्टर्स एक बार नुकसान की स्थिति में आने पर यह आशा करते रहते हैं कि उनका नुकसान स्टॉक के ऊपर आने पर पूरा हो जाएगा और जिसकी वजह से उनका नुकसान बढ़ता रहता है। स्टॉपलॉस ऑर्डर आपको सीमित नुकसान में मार्केट से निकलने की अनुमति देता है।
  • निवेशक के लिए एक फायदा यह भी है कि उसको रोजाना यह देखने की जरूरत नहीं पड़ती है कि कोई स्टॉक कैसा परफॉर्म कर रहा है। जब निवेशक छुट्टी पर होता है या पर वह लंबे समय से स्टॉक को देख नहीं पाता है तब यह उसके लिए काफी फायदेमंद साबित होता है।

स्टॉप लॉस के नुकसान - Disadvantages of Stop Loss

  • कई बार यह कम समय में स्टॉक की कीमत को उतार-चढ़ाव में स्टॉप प्राइस को एक्टिव कर सकता है।
  • जिस स्तर पर स्टॉप लगाया जाना चाहिए उसके लिए कोई भी सख्त नियम नहीं बनाया गया है और यह पूरी तरह उस निवेशक की निवेश शैली पर निर्भर करता है।
  • जब निवेशक अपने स्टॉक प्राइस पर पहुंच जाता है तो उसका स्टॉप ऑर्डर मार्केट ऑर्डर बन जाता है।
  • अगर आप डिलीवरी में ट्रेड करते हैं तो आपको हर दिन अपना स्टॉप GTT लॉस आर्डर डालना पड़ता है। क्योंकि मार्केट के बंद होने पर normal stop loss order ऑटोमेटिकली कैंसल हो जाता है।

Stop Loss Order कहां लगाना चाहिए?

स्टॉप लॉस ऑर्डर कहां लगाना चाहिए इसके लिए कोई भी तरह के सख्त नियम नहीं होते हैं। हर ट्रेडर अपनी trading strategy के अनुसार स्टॉपलॉस लगाता है। कुछ ट्रेडर ट्रेंडलाइन के मुताबिक, कुछ सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस के मुताबिक, कुछ जिगजाग इंडिगेटर के हिसाब से अपना स्टॉप लॉस ऑर्डर लगाते हैं।

आप ऊपर दी गई किसी भी विधि से स्टॉपलॉस लगाते हो अगर आप उसमें एवरेज ट्रू रेंज (Average True Range) इंडिकेटर को ऐड कर देंगे तो आप एक अच्छा स्टॉपलॉस ऑर्डर बना सकते हैं जो कि आमतौर पर ट्रिगर नहीं होगा और ज्यादातर मौकों में आपको लाभ ही देगा।

आपने जितना भी स्टॉपलॉस बनाया है उसमें एवरेज ट्रू रेंज (Average True Range) द्वारा बताई गई कीमत को जमा कर ले और वह स्टॉपलॉस रखें। ऐसा करने पर आप एक अच्छा स्टॉपलॉस ऑर्डर बनाते हैं जो कि आमतौर पर हिट नहीं होता है।

निष्कर्ष

हमारे द्वारा बताई गयी जानकारी आप तक अच्छे से पहुंच गई होगी और आपको स्टॉप लॉस के बारे में अच्छी तरह से पता लग गया होगा। इसमें केवल वही निवेशक बना रह सकता है जो लालच कम करे और अगर उसको नुकसान झेलना पड़ रहा है तो कम नुकसान झेलकर इस मार्केट में बना रह सकता है। निवेशक के नुकसान को कम करने के लिए स्टॉपलॉस एक अच्छा जरिया है।