जीवन बीमा क्या है?

मूल रूप से जीवन बीमा परिवार के मुखिया की सबसे बड़ी जिम्मेदारी होना चाहिए। पर भारत में यह देखा गया है कि बहुत कम लोग बीमा करवाते हैं। तो चलिए समझते हैं जीवन बीमा क्या है (what is life insurance in Hindi) और इसके बिना आपको क्या खम्याजा बुकतना पढ़ सकता है।

जीवन बीमा बीमित और बीमा कंपनी के बीच एक कानूनी करार होता है जिसके अंतर्गत बीमाधारक तय किया गया प्रीमियम भरता है और उसके बदले में बीमा कंपनी उसके जीवन के लिए उसको सुरक्षा प्रदान करती है।

पॉलिसी की अवधि के दौरान अगर बीमित की मृत्यु हो जाती है तो इस स्थिति में जीवन बीमा कंपनी बीमित के द्वारा तय किए गए नॉमिनी को तय की गई बीमा राशि देती है; जीवन बीमा (Jeevan Bima) में पूर्ण विकलांगता और परिपक्वता में भी लाभ मिलते हैं, अतिरिक्त लाभ जीवन बीमा के प्रकार पर निर्भर करते हैं।

बीमा जीवन में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हम हमेशा दुर्घटनाओं से घिरे रहते हैं जब भी हम बाहर जाते हैं तो हम देखते हैं कि कितनी दुर्घटनाएं होती है और कितने लोगों की जान जाती है।

कौन जाने की किस दिन हम किसी दुर्घटना का शिकार हो जाए और हमारी अनिश्चित मृत्यु हो जाए। मृत्यु की स्थिति में व्यक्ति तो चला जाता है लेकिन अगर वह परिवार का एकमात्र कमाने वाला सदस्य हो तो परिवार एक बहुत लंबे समय तक आर्थिक बोज के अंतर्गत आ जाता है।

अक्सर परिवार के मुखिया की मृत्यु के बाद (जो कि आपने भी अपने आस पड़ोस में देखा होगा) उसका परिवारआर्थिक तंगी में आ जाता है। जो परिवार पहले एक अच्छी और खुशहाल जिंदगी जी रहा था परिवार के मुखिया के जाने के बाद आमदन बंद हो जाती है जिसकी वजह से परिवार को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है

अगर जीवन बीमा हो तो परिवार के मुखिया की मृत्यु के बाद जो पैसा मिलता है उससे परिवार बहुत सालों तक अपना गुजारा कर सकता है। जिससे वह कोई बिजनेस भी शुरू कर सकता है।

लेकिन विडंबना यह है कि भारत में ज्यादातर लोग अपनी सबसे बड़ी जिम्मेदारी को नजरअंदाज कर देते हैं जिसका खामियाजा अंत में उनके प्यारे परिवार को ही भुगतना पड़ता है।

चलिए जीवन बीमा का महत्व एक उदाहरण से समझते हैं - Importance of life insurance

मान लीजिए श्याम परिवार का एकमात्र कमाने वाला सदस्य है और वह बहुत अच्छे खासे पैसे कमा रहा है। जिससे वह अपने परिवार को अच्छी तरह से चला पा रहा है और अपने बच्चों को पढ़ाई भी अच्छी दे पा रहा है। उसका जीवन बहुत अच्छी तरह से चल रहा है।

उसे लगता है कि उसे जीवन बीमा प्लान से कोई फायदा नहीं होगा क्योंकि वह अच्छे पैसे कमा रहा है और परिवार की जरूरतें पूरी कर पा रहा है। तभी एक दिन सड़क दुर्घटना में श्याम की मृत्यु हो जाती है।

अब क्या होगा? सबसे पहले परिवार की आमदन बंद हो जाएगी जिससे परिवार के रहन-सहन पर असर पड़ेगा और बच्चों की पढ़ाई पर भी। जब परिवार के पास पैसे नहीं होंगे तो वह मजबूरन अपना घर बेचने तक के बारे में सोच सकता है।

अभी ऊपर दी गई उदाहरण से समझे तो श्याम अच्छे पैसे कमा रहा था लेकिन उसने अपने परिवार को किसी अप्रत्याशित घटना के लिए सुरक्षित करने के बारे में सोचा ही नहीं।

यहां पर उसने गलती कर दी जिससे उसकी मृत्यु के बाद परिवार को आर्थिक तंगीओं का सामना करना पड़ा। अगर उसने जीवन बीमा के किसी एक प्रकार को खरीदा होता तो उसके परिवार को आर्थिक सहायता मिल जाती। आजकल बीमा कंपनियां बहुत सारे जीवन बीमा के प्रकार लाई है जिससे कि हर कोई अपनी जरूरत के हिसाब से एक पॉलिसी खरीद सकें।

जीवन बीमा कितने प्रकार के होते हैं जानने के लिए आप यह पोस्ट पढ़ सकते हैं।