ट्रेलिंग स्टॉप लॉस क्या है? - Trailing Stop Loss Meaning in Hindi

अगर आप नियमित रूप से ट्रेडिंग करते हैं तो Trailing Stop Loss एक ऐसा टूल है जिसकी मदद से आप ज्यादा से ज्यादा प्रॉफिट कमा सकते हैं और इसी के साथ अपने रिस्क या लॉस को कम से कम कर सकते हैं। दरअसल जब आप एक बार अपनी ट्रेड को प्रॉफिट में देख लेते हैं तो आप स्टॉप लॉस की मदद से यह कोशिश करते हैं कि ट्रेड में से कुछ ना कुछ प्रॉफिट बुक करें या कम से कम लॉस बुक करें। आइए अब हम जानते हैं की Trailing Stop Loss Meaning in Hindi जानते हैं।

ट्रेलिंग स्टॉप लॉस क्या होता है - Trailing Stop Loss Meaning in Hindi

कई बार मार्केट ऊपर जा रहा होता है जिससे कि ट्रेडर को लाभ हो रहा होता है। लेकिन ऊपर जाते-जाते मार्केट अचानक ही नीचे तेजी से गिर जाता है और इस स्थिति में एक लाभदायक ट्रेड नुकसान में बदल जाती है। और कुछ बार तो ऐसा होता है कि स्टॉपलॉस हिट करके एक प्रॉफिटेबल ट्रेड को नुकसान के साथ ट्रेड को बंद करना पड़ता है। 

ऐसी स्थितियों से बचने के लिए Trailing Stop Loss का उपयोग किया जाता है। जिसमें की जैसे-जैसे शेयर का मूल्य ऊपर जाता है उसी तरह स्टॉप लॉस ऑर्डर को ऊपर खिसकाना शुरू कर दिया जाता है।

Trailing Stop Loss Meaning in Hindi :उदाहरण के लिए मान लीजिए आपने कोई शेयर ₹1000 पे खरीदा है और आपका टारगेट प्राइस ₹1500 रुपए हैं। अब यह तो जाहिर है कि मार्केट सीधा ऊपर नहीं जाएगा यह ऊपर नीचे होते हुए ही जाएगा। और यह भी मुमकिन है कि स्टॉक का प्राइस ₹1000 से नीचे गिरना शुरू हो जाए या ₹1400 टच करके वापिस ₹1000 के नीचे गिर जाए। 

ऐसी स्थिति में मान लीजिए हमारा शुरुआती स्टॉप लॉस हमने ₹900 रखा है जिसका मतलब है कि अगर stock price ₹900 से नीचे जाएगा तो हम मार्केट से अपने सारे शेयर बेच देंगे और ₹100 प्रति शेयर नुकसान के साथ अपनी trade exit कर देंगे।

अभी मान लीजिए कि ट्रेड डालने के बाद स्टॉक का प्राइस ₹1000 से ₹1100 में पहुंच गया है तो क्या इस स्थिति में हमें अपना स्टॉप लॉस ऑर्डर ₹900 ही रखना चाहिए?

बिल्कुल नहीं!

अभी हमारे लिए अच्छा यह होगा कि हम अपना स्टॉपलॉस ₹900 से खिसका कर ₹1000 पर ले जाएं। मतलब अभी अगर स्टॉक का प्राइस ₹1100 से गिरकर 1000 पर आ जाता है तो हम ट्रेड से एग्जिट कर देंगे। इस स्थिति में हमें ना कोई मुनाफा होगा ना कोई नुकसान।

इस तरह करने से अभी हम Breakeven Point (No loss no profit) पर आ गए हैं। इसका मतलब है कि जिस प्राइस पर हमने शेयर खरीदा था अभी हमारा स्टॉपलॉस वहीं पर है। अभी स्टॉक मार्केट अगर गिरकर अगर हमारा स्टॉप लॉस ऑर्डर ट्रिगर हो जाता है तो हमें किसी भी तरह का नुकसान नहीं होगा हम जीरो प्रॉफिट जीरो लॉस पर एग्जिट कर जाएंगे।

अभी हमने अपना stop loss order trail कर दिया है और ब्रेकइवन पर आ गए हैं।

अभी फिर से मान लीजिए share price ₹1100 से बढ़कर ₹1200 हो गया है। अभी स्थिति में आप समझ गए होंगे कि हमें आगे क्या करना है। अभी हमें फिर से अपना स्टॉपलॉस खिसकाना या ट्रेल करना होगा और इस बार हम अपना स्टॉप लॉस ऑर्डर ₹1000 से ₹1100 पर ले जाएंगे।

अभी हम ट्रेलिंग स्टॉप लॉस की वजह से मुनाफे की स्थिति में आ गए हैं। अभी हमारा स्टॉप लॉस ₹1100 पर है और हमने शेयर खरीदा हुआ है ₹1000 पर इसका मतलब है कि अगर हमारा stop loss order trigger होता है तो वह हमें प्रति शेयर ₹100 का मुनाफा होगा।

इस तरह आप मार्केट में trailing stop loss का फायदा उठा सकते हैं।

Trailing Stop Loss की मदद से आप जब एक बार मुनाफे में आ जाते हैं तो आप कोशिश करते हैं कि या तो breakeven पर निकल जाए और या कुछ ना कुछ मुनाफा लेकर ही ट्रेड से एग्जिट करें। एक बार मुनाफा देखने के बाद लॉस लेना सही नहीं होता है।

इसीलिए अगर आपकी ट्रेड ने प्रॉफिट दिखाना शुरू कर दिया है तो आपको stop loss trail करते हुए जाना है जैसे-जैसे मार्केट ऊपर जाता है।