99% लोग नहीं जानते बैंक चेक पर लिखी जानकारी का मतलब

परिभाषा के अनुसार चेक एक खास तरह का कागज होता है जिस पर एक व्यक्ति के बैंक अकाउंट से संबंधित जानकारी प्रिंट होती है। जिसकी मदद से खाता धारक बैंक को आदेश देता है कि जिसका नाम चेक पर दिया हुआ है उसको उसके (खाता धारक) बैंक अकाउंट से पैसे दे दिए जाए।

आपकी जानकारी के लिए बता दे की 99% लोगों को नहीं पता होता है कि बैंक चेक पर क्या-क्या जानकारी छिपी होती है (details of cheque) और एक बैंक चेक को सही तरह से कैसे भरा जाता है। चेक को भरने के लिए हमने एक अलग पोस्ट लिखा है जिसमें हमने विस्तार से बताया है कि बैंक चेक भरते वक्त कौन सी गलतियां बिल्कुल नहीं करनी चाहिए। उदाहरण के तौर पर अगर आप "धारक को या Or Bearer" नहीं कटते हैं तो आपका चेक कोई भी उपयोग करके पैसे निकलवा सकता है।

details of a cheque


चेक भरने से पहले हमें पता होना चाहिए कि हमारी चेक पर कौन-कौन सी जानकारी छिपी होती है। तो चलिए देखते हैं की चेक पर आपके अकाउंट से जुड़ी हुई कौन-कौन सी जानकारी होती है।

बैंक चेक डीटेल्स - Details of a cheque in Hindi

आप अपनी बैंक चेक पर बहुत सारी जानकारी नंबर और अक्षरों में छपी हुई देख सकते हो। अगर आपको बैंक चेक डीटेल्स (details of a cheque) नहीं पता है तो आप नीचे दी गई जानकारी को पढ़कर जान सकते हो कि आपके चेक पर क्या-क्या जानकारी छिपी होती है। यह जानना हमेशा लाभकारी होता है।

how to fill cheque in hindi details of cheque
बैंक चेक के ऊपर सबसे पहले आपका बैंक IFSC कोड लिखा होता है। जिससे आपकी बैंक ब्रांच कहां पर है इसका पता चलता है। 

उसके बाद आपका बैंक अकाउंट नंबर चेक के ऊपर लिखा हुआ होता है।चेक के नीचे वाली साइड पर कुछ नंबर लिखे हुए होते हैं जिनमें से पहले 6 नंबर आपके चेक के नंबर को दर्शाते हैं।

यह आपका चेक नंबर होता है अगर आपको कहीं पर इसको भरना हो तो आप पहले 6 नंबर देख सकते हो।पहले 6 नंबरों के बाद, आगे के 9 नंबरों को हम MICR कोड बोलते हैं।

MICR कोड को हम संक्षेप में 'Magnetic Ink Character Recognition' कहते हैं। यह नंबर की मदद से बैंक चेको की छँटाई जल्दी कर पाता है। बड़ी बैंक ब्रांच में 1 दिन में हजारों चेक आते हैं और उनकी छँटाई अगर कोई आदमी करने लगे तो बहुत समय लगेगा तो इसीलिए बैंक ने MICR कोड प्रस्तुत किया जिसकी मदद से बैंक चेको की छँटाई कुछ ही सेकंड में मशीन की मदद से कर लेता है। 

9 नंबर MICR कोड आगे तीन भागों में बटा होता है। जिनमें से पहले तीन नंबर बैंक की लोकेशन की जानकारी देते हैं, बीच के तीन नंबर बैंक के नाम को दर्शाते हैं; हर बैंक का एक अलग तीन नंबर का मशीन कोड होता है जैसे कि HDFC बैंक का कोड 240 है और भारतीय स्टेट बैंक का कोड 002 है, और इसी तरह अंत के तीन नंबर असल बैंक ब्रांच के बारे में बताते हैं।

9 नंबर MICR कोड के बाद, 6 नंबर अकाउंट ID कोड होता है। जिसमें आपके अकाउंट से संबंधित जानकारी छुपी होती है। अंत के दो नंबर ट्रांजैक्शन ID कहलाते हैं। इसकी मदद से मशीन को पता चलता है कि आपका चेक लोकल चेक है या 'At Par चेक'।

अगर आपका चेक लोकल चेक होता है तो इसको सिर्फ आपकी बैंक ब्रांच जहां पर आपका खाता है से कैश करवाया जा सकता है। लेकिन अगर आपका चेक दूसरी श्रेणी का है तो यह चेक आपके बैंक की किसी भी बैंक ब्रांच में लगाया जा सकता है।

मुझे उम्मीद है कि अभी आपको बैंक चेक डीटेल्स (details of a cheque) अच्छी तरह से पता चल गई होगी और आप अपने दोस्तों को यह जानकारी साझा करके इंप्रेस भी कर सकते हैं।

हमारे अलग पोस्ट में हमने सही से बताया है कि एक चेक को कैसे भरते हैं वह वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं।